Login ID:
Password:
Partner Login
Contact Us : 7066511911

जीरे में सिमित व्यापार

19 Sep 2018 4:37 pm
 Comments 0 Comments  |  Comments Post Comment  |  Font Size A A A 

मुंबई (कमोडिटीजकंट्रोल) - सुस्त मांग तथा सामान्य आवक की वजह से आज हाजिर बाजार में जीरे में सामान्य व्यापार दर्ज किया गया जिसकी वजह से कीमतों में कोई उठापटक नहीं देखी गई, व्यापारियों की सक्रियता सिमित होती जा रही है जिससे बाजार में निरसता का माहौल बना हुआ है जिसकी वजह से किसान भी अपना माल बाजार में लाने से हिचकिचा रहे है

आगामी त्योहारी माह में जीरे की खपत बढ़ने की उम्मीद से व्यापारी ऊँचे भाव पर भी स्टॉक करने से नहीं हिचकिचा रहे है इसके अलावा मंडियों में जीरे की आवक बेहद कमजोर हो चुकी है जिससे व्यापार जोरों पर होने की उम्मीद जताई जा रही है।

भारत में जीरे की सबसे बड़ी मंडी उंझा में जीरे की आवक दिन प्रतिदिन कम होती जा रही है इसके अलावा गुजरात तथा राजस्थान की अन्य मंडियों में भी आवक बेहद कमजोर हो चुकी है जिससे आगामी त्योहारी सीजन में जीरे की आपूर्ति कम होने से कीमतों में इजाफा देखा जा सकता है।

विश्वस्त सूत्रों के अनुसार चीन तथा बांग्लादेश इस वक़्त छिटपुट तरीके से जीरे का इम्पोर्ट कर रहे है, वियतनाम के द्वारा भी जीरे का इम्पोर्ट हो रहा है, वैश्विक स्तर पर जीरे की फसल इस वर्ष कम आंकी गई है जिससे अन्तराष्ट्रीय बाजार में भारतीय जीरे की मांग में लगातार इजाफा हो रहा है।

भारतीय रुपये अपने न्यूनतम स्तर पर पहुच चूका है जिससे इम्पोर्टर इस वक़्त बेहतर खरीददारी करते नजर आ रहे है इसके अलावा यदि वाले समय में यदि रुपये की चाल इसी तरह रही तो भविष्य में जीरे का एक्सपोर्ट ज्यादा हो सकता है।

सूत्रों की माने तो चीन इस समय बांग्लादेश तथा उनके अन्य सहयोगी देश (जिनसे उनका द्वीपक्षीय व्यापार है) के द्वारा भारत से जीरे की खरीदी कर रहा है जिससे उन्हें कर में राहत मिलती है।

गौरतलब है की भारत में इस वर्ष जीरे की फसल लगभग 70 से 73 लाख बैग दर्ज की गई थी जो की औसत वार्षिक फसल से कहीं ज्यादा है, इतनी फसल होने के बाद किसी ने सोचा भी नहीं था की जीरे में ऐसी तेजी देखने को मिल सकती है।

इस समय बाजार में सटोरिये सक्रीय देखी जा रहे है जिससे बाजार में हलचल बढती जा रही है तथा आने वाले समय में जीरे का बाजार हलचल भरा देखा जा सकता है।

गुजरात में इस वर्ष जीरे के उत्पादन वाले क्षेत्र में मानसून की कमी दर्ज की गई है जिससे आगामी फसल पर असर पड़ना तय माना जा रहा है यदि आने वाले समय में बारिश कम रही तो जीरे की कीमतों में तेजी रहने की संभावना प्रबल होती जाएगी।

Market Verity Min (100/Kg) Max (100/Kg) Arrival
Unjha Rough (20 Kg) 3300 3400 8000
Unjha Ncdex (20 Kg) 3450 3550
Unjha Best Quality (20 Kg) 3675 3775
Unjha Bomabay BOLD (20 Kg) 3725 3825
Rajkot Europe Quality (20 Kg) 3500 3600 1200
Rajkot Singapore Quality (20 Kg) 3400 3500
Rajkot Discolor (20 Kg) 3200 3400
Rajkot Super Quality (20 Kg) 3600 3700
Rajkot Europe (20 Kg) 3900 3950
Rajkot Singapore (20 Kg) 3800 3850
Gondal Super Quality (20 Kg) 3550 3650 350
Gondal Medium (20 Kg) 3425 3525
Byawar Jeera 16800 17800
Jodhpur Jeera 16200 17700
Phalodi Jeera 16800 17900
Bilara Jeera 16700 17850

(कमोडिटीजकंट्रोल ब्यूरो द्वारा; +91-22-40015567)


       
  Rate this story 1 out of 52 out of 53 out of 54 out of 55 out of 5 Rated
0.0

   Post comment
Comment :

Note : This forum is moderated. We reserve the right to not publish and/or edit the comment on the site, if the comment is offensive, contains inappropriate data or violates our editorial policy.
Name :  
Email :  
   

Top | Post Comment  

Top 5 Special Reports
Weekly: Urad, Tur Decline Most In Pulses Complex
Canada's Pea Production May Rise 30% To 4.7 Million Ton...
USD/INR A Pullback is Underway / Next Key Support Zon...
USD/INR May Decline Further Towards Key Support Zone ...
USD/INR Requires a Breakout Above 72.00 To Confirm Up...
Copyright © CC Commodity Info Services LLP. All rights reserved.